इन बाल कविताओं के साथ सभी बच्चे ख़ुशी से झूम उठेंगे (With these Rhymes all children will be happy to wake up)

0

अट्टू बट्टू चट्टू ,

खूब घुमाते लट्टू।

 दौड़कर आया टट्टू 

भागे चट्टू बट्टू ।।

अगर कहीं मिलती बंदूक

 कर देती हमको दो टूक।

नदी निकाल बना पिचकारी।

 रंग देती मैं दुनिया सारी ।।

देखो वह बंदर आया ।

उसे मदारी है लाया

 नाच रहा है ठुमक ठुमक ।

ढोलक बाजे धमक धमक ।।

चिड़िया आती चिड़िया आती 

मीठे मीठे गीत सुनाती 

कभी हवा में पंख उड़ाती 

कभी घोसले में छिप जाती।

 सुंदर-सुंदर पर फैलाती ।

आती पास तभी उड़ जाती।।

 दो बैलों की गाड़ी देखो।

 दो दो पहिए भारी देखो।

 बैल जूते हैं काले भूरे।

 चाल है इसकी प्यारी देखो ।

बाबा हांक रहे हैं गाड़ी,

 अम्मा करे सवारी देखो ।।

चली हवा है सर सर सर ।

झड़ती पत्ती झर झर झर।।

 टपक रहे हैं टप टप फल ।

झटपट बोलो कौन से फल ।।

ऊपर चंदा नीचे पानी 

फूलों पर है तितली रानी

 रंग बिरंगी पंखों वाली 

प्यारी प्यारी बहुत निराली।

 लगती सबको बहुत सुहानी।

 तितली रानी तितली रानी ।

पानी आया रिम झिम झिम

 छाता लेकर निकले हम ।

पैर फिसल गया गिर गए हम

 हमें उठाओ भागे हम।।

 मेरी गुड़िया है बीमार , देखो कितना तेज बुखार ।

कल था डटकर बरसा पानी, भीगी जिसमें गुड़िया रानी।

 गीले कपड़े दिये उतार ,फिर भी उसको तेज बुखार।

 जल्दी से डॉक्टर बुलवाओ फौरन उसको दवा पिलाओ।

 टब में छिपने आया भालू 

किंतु नहीं छुपाया भालू ।

टब छोटा था भालू मोटा।

 राजू बहुत अधिक था खोटा ।

उसने जाकर खोल दिया नल,

 नल से निकल पड़ा शीतल जल।

 लेकिन डूब न पाया भालू ,

जल में खूब नहाया भालू।।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply