बाल कविता : हम छोटे-छोटे हैं पर बढ़ते जाएंगे (We are small but grow up)

बाल कविता :

बाल कविता

हम छोटे-छोटे हैं –
हम छोटे-छोटे हैं,
पर बढ़ते जाएंगे |


खेलेंगे कूदेंगे,नाचेंगे गाएंगे ,
पर बढ़ते जाएंगे |
हैं हाथ अभी छोटे
हैं पांव अभी छोटे,
हैं कदम अभी छोटे
पर बढ़ते जाएंगे ||


चिड़ियों-सा चहकेंगे,
फूलों-सा महकेंगे
हर घर के आंगन में,
एक फूल खिलाएंगे ||


चंदा-सा चमकेंगे,
सूरज-सा दमकेंगे
हम छोटे से दीपक
उजियारा लाएंगे||

(We are small but grow up)

We are small –
We are small,
Will grow on.
Play will jump,

dance will sing,
Will grow on.
Hand is just short
The feet are small,
Steps are just short
Will grow on
The birds will flirt with you,
Flowers will smell
In the courtyard of every house,
Will feed a flower .
The lights will shine,
The sun shines
We small lamp
light will bring you .

Leave A Reply

Your email address will not be published.