योगासन करने से पूर्व तैयारी व आदर्श दिनचर्या(Preparation and ideal routine before doing yoga)

योग का अभ्यास पाँच मुख्य तत्व

  • सही श्वास,
  • सही व्यायाम,
  • सही विश्राम,
  • सही आहार और
  • विधायक सोच व ध्यान |

योग करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. आइए जानते हैं योग करने से पहले खुद को कैसे तैयार करना चाहिए.

1.योग सुबह खाली पेट किया जाए

  •  योग करने के कुछ समय बाद आप भोजन कर सकते हैं लेकिन योग के पहले कम से कम 3 घंटे भोजन ना करें.
  • भोजन के तुरंत बाद आप वज्रासन कर सकते हैं.

2. अपने डाक्टर से परामर्श करें

  • असल में कोई भी ऐसा नहीं है, जो इसे ना कर सके|
  • इसके बारे में कोई भी शंका हो या शरीर किसी कारण से अस्वस्थ हो, तो अपने डाक्टर से परामर्श करें|

3. सही व्यायाम : योगासन

  • आसन धारावत, लेकिन बहुत ही धीरे-धीरे किया जाता है|
  • तेज़ी से और संघातक तरीक़े से आसन नहीं करने चाहिए, क्योंकि उसके कारण शरीर में लैक्टिक ऐसिड पैदा होता है, जिससे शरीर में थकान हो जाती है|

4. सही श्वास प्रक्रिया

  •  फेफड़ों से बासी वायु एवम् ज़हरीले तत्वों को बाहर निकालने के लिए श्वसन क्रिया के व्यायाम में श्वास भीतर लेने से ज़्यादा छोड़ने पर अधिक ध्यान दिया जाता है|
  • आसनों को करते हुए श्वास को सही तरीके से लेना बहुत आवश्यक है|

5. सही विश्राम

  •  हर बार योगासन करने से पहले और बाद में विश्राम की अवस्था में जाएँ और हर आसन के पहले और बाद में शरीर को रिलैकस्ड रखें|
  • इससे शरीर में उत्पन्न हुई ऊर्जा को ठीक से प्रवाहित होने में सहायता मिलती है|

6. सही आहार

  • योग करने वाले विद्यार्थी को सादा और पूर्ण शाकाहारी भोजन लेने का सुझाव दिया जाता है|
  • प्राकृतिक आहार आसानी से हज़म होता है| इससे शरीर स्वस्थ रहता है, मन शांत रहता है और मन में तनावयुक्त विकल्प नहीं आते हैं|

7. विधायक सोच और ध्यान

  • ध्यान करते समय अपने मन को कैसे शांत करना है और मानसिक ऊर्जा को कैसे अंतर्मुखी करना है, ये बातें ध्यान में उतरने से पहले सीखनी होती हैं|
  • ध्यान आपको तनाव मुक्त और ऊर्जापूर्ण कर देता है|

ध्यान में बैठने की स्थिति

  • जो अनुभवी और पुराने विद्यार्थी हैं, वे पद्मासन में बैठें
  • नये विद्यार्थी आरामदेय आसन में बैठें|

8. योगासन में शिक्षक का महत्व

  • आप चाहे अकेले योगाभ्यास करें या मिल कर करें, हमेशा एक योग्य शिक्षक के निरीक्षण में ही करें, तो बेहतर रहेगा|
  • शिक्षक हर आसन खुद कर के दिखाएगा और साथ में यह भी सिखाएगा कि शरीर को किस तरह आराम से योगासन में प्रविष्ट कराना है और बाहर लाना है|

9. आपकी ज़रूरत

  • आप योगासन के लिए चटाई का प्रयोग कर सकते हैं या क़ालीन के ऊपर चादर बिछाकर भी योगासन कर सकते हैं|
  • योगासन करने के लिए ऐसी जगह चुने, जो खुली हो| कमरे का तापमान सही हो, और योगासन करते हुए में किसी भी तरह का व्यवधान ना आए|

10. योगासन कब और कहाँ करें

  • योगासन का हर रोज़ अभ्यास करें| इसके साथ यह भी ज़रूरी है कि इसको आराम से करें, शरीर के साथ ज़बरदस्ती ना करें|
  • सुबह योगासन करने से नींद में अकड़े हुए शरीर के जोड़ों की अकड़न निकल जाती है| शाम को किया हुआ योगाभ्यास दिन भर के तनाव से शरीर हो मुक्त करता है|

11. हर बैठक कितनी लम्बी हो?

  • अधिक लाभ के लिए आप नब्बे मिनट का समय तय करें|
  • जब आप व्यस्त हों, तो थोड़े आसनों के साथ छोटी बैठक कर सकते हैं| यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आपको आसन करने में जल्दी ना हो और दो आसनों के मध्य में विश्राम का समय हो|

12. अपने शरीर की योग्यताओं को पहचानो

  • कभी भी कोई आसन करते हुए शरीर के साथ ज़बरदस्ती ना करें और अपनी सीमा से बाहर इसे ना करें|
  • हर आसन को आराम से करें| जब आप आसन की स्थिति में हों, तो शरीर में देखें कि कहीं तनाव ना हो

13. शरीर के दोनो तरफ़ का संतुलन

  •  स्वस्थ और समन्वित संतुलन के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि शरीर के बाएँ-दाएँ; दोनो भाग समान रूप से शक्तिशाली और लचीले हों|
  • संतुलन के लिए योगाभ्यास शरीर के दायीं और बायीं ओर की मांस पेशियों को समान रूप से काम करने में सहायता देता है

14.मोबाइल फोन या अन्य जरुरी बातें

  • योग करने के दौरान एकाग्र रहें. .
  • योगासन करने के पहले ज़ेवर, चश्मा, कांटैक्ट लेन्सिस उतार दें| शरीर पर ऐसे वस्त्र पहने जिससे योगासन करने में आसानी हो|

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.