स्काउट एवं गाइड झंडा गीत

स्काउट एवं गाइड झंडा गीत BHARAT-SCOUTS-AND-GUIDES स्काउट/गाइड झण्डा गीत के रचयिता देहरादून निवासी श्री दयाशंकर भट्ट थे।इस गीत को लगभग45 सेकंड में गाया जाना चहिये । ध्वज फहराकर सैल्यूट करने के तुरन्त बाद निर्धारित लय में गाया जाना…
Read More...

स्काउट गाइड के सिद्धांत, प्रतिज्ञा और नियम की जानकारी

स्काउट-गाइड के सिद्धांतः- (1) ईश्वर के प्रति कर्तव्य का पालन (2) दूसरों के प्रति कर्तव्य का पालन (3) स्वयं के प्रति अपने कर्तव्य का पालन। स्काउट-गाइड की प्रतिज्ञा:- मैं मर्यादापूर्वक प्रतिज्ञा करता हूं कि /…
Read More...

इन कविताओं को पढ़कर नर्सरी कक्षा की यादें ताज़ा हो जाएँगी

Nursery class poems. मैं तो सो रही थी- मैं तो सो रही थी, मुझे बिल्ली ने जगाया, बोली- म्याऊं, म्याऊं, म्याऊं, मैं तो सो रही थी, मुझे कुत्ते ने जगाया, बोला- भौं, भौं, भौं,| मैं तो सो रही थी, मुझे चिड़िया नहीं जगाया, बोली-…
Read More...

गुदगुदी करने वाली बाल कविताएँ(Tickling kids poems)

छाता- लाल गुलाबी, काला छाता | बड़े काम में आता छाता | वर्षा में गीला हो जाता | स्वयं भीगता, हमें बचाता | हम सब का साथी है छाता | धूप से हमें बचाता छाता || राधा का है पीला छाता | मुन्नू का है नीला छाता | फूलों भरा सुनहरा छाता | रंग रंगीला…
Read More...

21 अक्टूबर आज़ाद हिन्द फ़ौज दिवस मनाने से पहले जानियें आज़ाद हिन्द फ़ौज के बारे में

कदम कदम बढ़ाये जा खुशी के गीत गाये जा ये जिंदगी है क़ौम की तू क़ौम पे लुटाये जा तू शेर-ए-हिन्द आगे बढ़ मरने से तू कभी न डर उड़ा के दुश्मनों का सर जोश-ए-वतन बढ़ाये जा कदम कदम बढ़ाये जा खुशी के गीत गाये जा ये जिंदगी है क़ौम की तू…
Read More...

7 अगस्त आरक्षण दिवस स्पेशल : आरक्षण एक चिंतन

आरक्षण दिवस हमारे देश में पहली बार 7 अगस्त 2006 को मनाया गया ।इसी दिन सामाजिक न्याय हेतु पिछड़े वर्गों को न्याय दिलवाने के लिए शिक्षण संस्थानों एवं नौकरीपेशों में 27% आरक्षण की घोषणा मंडल आयोग की सिफारिशों के आधार पर की गई थी। आरक्षण एक ऐसा…
Read More...

बाल कविता : बच्चों को कविता के माध्यम से वर्णमाला सिखाएं

छोटे छोटे बच्चों को कवितायेँ बहुत पसंद होती हैं. यदि उन्हें कविता के माध्यम से वर्णमाला सिखा दे तो कितना अच्छा हो, तो आइये शुरू करें ये बालगीत -
Read More...

कुछ ऐसी बाल कविताये जो हर उम्र के लोगो को पसंद आये (Some child poems that like people of all ages)

लड्डू भाई लड्डू भाई गोल मटोल ।बोलो बोलो कितना मोल।तुम राजा पकवानों के ।सजते बड़ी दुकानों पे।तुम्हें देखकर हो जाती हैंसब की हालत डामाडोल ।लड्डू भाई गोल मटोल ।हलवाई के प्यारे हो ।सब के राज दुलारे हो ।लड्डू भाई गोल मटोल ।सालगिरह हो बाबू…
Read More...

बच्चो के लिए ६ कविताये , सुनके जिसे वो गुनगुनाएं (Listening to the 6 poems for children, which he…

अम्मा अम्मा करती कितना काम।चाहे सुबह हो चाहे शाम ।कुछ ना कुछ करती ही रहती।सारे घर का बोझ आ सहती।नहीं उसे मिलता आराम ।अम्मा करती कितना काम।हम भी थोड़ा काम करेंगे।अम्मा जी की मदद करेंगे ।तब होंगे सब काम तमाम।मिलेगा अम्मा को आराम । डर…
Read More...