उच्च प्राथमिक स्तर पर गणित पाठ्यचर्या की अपेक्षाएं(Mathematics curriculum requirements at upper primary level)

उच्च प्राथमिक स्तर पर गणित पाठ्यचर्या की अपेक्षाएं : (Mathematics curriculum requirements at upper primary level)

बच्चों से अपेक्षा की जाती है कि वे

  • संख्याओं के मूर्त विचारों से संख्या बोध की ओर अग्रसर होंगे। संख्याओं के बीच संबंध देख पाएंगे तथा संबंधों में पैटर्न ढूंढ पाएंगे।
  • चर, व्यंजक, समीकरण, सर्वसमिका आदि से संबंधित अवधारणों को समझकर उनका उपयोग कर सकेंगे।
  • वास्तविक जीवन की समस्याओं को हल करने के लिये अंक गणित तथा बीज गणित का उपयोग कर सकेंगे तथा उनसे संबंधित अर्थपूर्ण प्रश्न पूछ सकेंगे।
  • त्रिभुज, वृत्त, चतुर्भुज जैसी आकृतियों में सममिति की खोज कर सौंदर्यबोध का विकास कर सकेंगे।
  • एक आकृति की सीमाओं में बंद क्षेत्र को स्थान (space) के रूप में पहचान सकेंगे।
  • परिमाप, क्षेत्रफल, आयतन के परिपेक्ष्य में स्थानिक समझ विकसित कर सकेंगे, तथा उसका उपयोग दैनिक जीवन की समस्याओं के हल में कर सकेंगे।
  • गणितीय संदर्भ में स्वयं के द्वारा प्राप्त निष्कर्षों को न्यायसंगत रूप से सिद्ध करने हेतु उचित कारण तथा ठोस तर्क प्रस्तुत कर सकेंगे।
  • स्वयं के अनुभवों से प्राप्त जानकारियों/आंकड़ों को एकत्र कर उनका निरूपण (ग्राफ के रूप में और सारणीबद्ध रूप में) व व्याख्या कर सकेंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply