स्काउटिंग में अष्ठाकार गांठ (Figure of 8 knot) और वर्गाकार बन्धन (Square Lashing) के उपयोग जानें

0

अष्ठाकार गांठ ( फिगर ऑफ एट नॉट ) :

फिगर ऑफ एट नॉट सादी गांठ के स्थान पर लगाई जाती है । इसका उपयोग रस्सी के सिरे को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है । इससे रस्सी का सिरा मोटा नहीं होता तथा न ही इस गांठ के कारण काम में कोई बाधा आती है । 
विधिः
 इसमें रस्सी के एक सिरे का नीचे की तरफ लूप बनाकर , सिरे को उसी रस्सी के पीछे से लाकर , ऊपर से लूप  रस्सी का सिरा सुरक्षित रहता है और उसकी लड़ें नहीं खुलती । 

Figure-eight knot - Wikipedia

वर्गाकार बन्धन ( Square Lashing ) 


उपयोग : पुल अथवा मकान बनाते समय मजदूरों के लिए पाड़ या मचान तैयार करने में इस बन्धन का प्रयोग किया जाता है । इसके द्वारा दो लट्ठों या बल्लियों को समकोण पर बांधा जाता है 
विधि : जिस लट्टे पर दूसरे लट्ठे का वजन पड़ रहा हो , उस लट्टे पर खूटा फाँस लगाएँ और फिर इस पर दूसरा लट्ठा धन ( + ) की स्थिति में रखें । अब रस्सी को एक ही दिशा में चार बार लट्टे पर कस कर फ्रेपिंग कर दें । इसका अंत भी खूटा फांस से होगा । बन्धन तैयार हो गया । 

अष्टाकार बन्धन ( Figure of Eight Lashing ) 

उपयोग : इसका उपयोग दो या तीन समानांतर रूप में रखी बल्लियों या बांसों को बांधने के लिये किया जाता है । 
विधि : इसमें तीन बांसों को एक – दूसरे के बराबर रखें । एक बांस में खूटा फांस लगा दें । फिर रस्सी को बीच वाले बांस के नीचे से व तीसरे बांस के ऊपर से ले जाएं । फिर बीच वाले बांस के ऊपर से और पहले वाले : में डालकर नीचे की ओर खींच दिया जाता है । इस गांठ से  बांस के नीचे से लेते हुए तीन – चार चक्कर लगा दें । अब प्रत्येक दो बांसों के बीच अंग्रेजी का 8 बन गया है । अब इसके बीच में तीन चार बार रस्सी घुमाकर प्रेपिंग कर दें । फिर खूटा फांस से इसे बंद कर दें । 

कुल्हाड़ी अथवा चोपर के प्रयोग

 कुल्हाड़ी अथवा चोपर के प्रयोग का प्रदर्शन करें और सुरक्षा के नियमों का ज्ञान व इनकी धार बनाना जानें । 

प्रयोग , सुरक्षा व धार बनाना

डैगर ( चाकू ) अथवा पैन नाइफ का प्रयोग , सुरक्षा व धार लगाने का प्रदर्शन करें और स्क्रू ड्राइवर ( पेचकस ) , प्लायर ( प्लास ) व हैमर ( हथौड़ा ) का प्रयोग जानें ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.