स्काउट गणवेश की जानकारी व सही पहनना

0

स्काउट गणवेश की जानकारी व सही पहनना

स्काउट गणवेश के विभिन्न भागों के नाम- जाने तथा उन्हें सही ढंग से पहनना जाने।(यूनिफार्म)

स्काउट गणवेश

1. कमीज (शर्ट )- स्टील ग्रे रंग, दो ढक्कनदार जेबें ( जेबों केबीच में बैज जितनी चौड़ी खड़ी पट्टी) दोनों कन्धों पर शोल्डर स्ट्रैप्स लगे हों,आधी बाजू या लपेटी हुई पूरी बाजू।

2. हाफ पैंट या पैंट (शॉर्ट या ट्राउजर): नेवी ब्ल्यू रंग कीहाफ पैन्ट या पैन्ट होगी। लेकिन राष्ट्रपति अवार्ड जाँच शिविर या राष्ट्रपतिअवार्ड रैली में पैन्ट अनिवार्य है जो न अधिक ढीली हो और न अधिकतंग हो। दो साइड जेबें व एक पीछे जेब हो।
3. सिर की गणवेश- गहरे नीले रंग की बैरट कैप जिस परअधिकृत कैप बैज लगा हो, सिक्ख नीले रंग की पगड़ी जिस पर (आगेबीच में ऊपरी सिरे पर) कैप बैज लगा हो पहनेंगे। समारोहों के अवसरपर सिर की गणवेश पहनना अनिवार्य है।
4. बैल्ट- स्लेटी (ग्र)सा की नायलैक्स बैल्ट जिस पर भारत स्काउट्स वगाइड्स का अघिकृत (पीतल का) बक्कल लगा हो।
5. स्कार्फ- हरा,बैंगनी और पीला छोड़कर ग्रुप के रंग कात्रिभुजाकार स्कार्फ जिसकी दो समान भुजाएं 70 से 80 से.मी. तक हो ।प्रत्येक दल के स्कार्फ का रंग लोकल या जिला एसो.द्वारा स्वीकृत होता है।इसे गर्दन के चारों ओर कमीज के कॉलर व शोल्डर स्ट्रैप्स के ऊपर ग्रुपवोगल (गिलवैल वोगल से भिन्न) के साथ पहना जाता है।
6. शोल्डर बैज- सफेद कपड़े का 6 से 8 से.मी.लम्बा व1.5 से.मी. चौड़ा लाल बॉर्डरयुक्त, थोड़ा घुमावदार शोल्डर बैजजिस पर लाल रंग से ग्रुप का क्रमांक व नाम लिखा होगा, दोनोंकन्धों की सिलाई के ठीक नीचे की ओर लगाया जायेगा।.नोटः (1) राज्य से बाहर जाने पर राज्य का नाम जैसे राजस्थान उत्तरप्रदेश, पंजाब, हरियाणा, K.V.S., N.V.S. आदि लिखते हैं ।        (2). राष्ट्र से बाहर जाने पर देश का नाम जैसे INDIA, JAPAN, SRI LANKA आदि लिखते हैं।
7. शोल्डर स्ट्रिप्स- 

Badges of Scouts - YouTube

स्टील ग्रे रंग के 5 से.मी.वर्गाकार कपड़े पर बी.पी. द्वारा पेट्रोलके नाम पर निर्धारित रंगों की 5 से.मी.लम्बी व 1.5 से.मी. चौड़ी, दो पट्टियां,दो से.मी. के अंतर पर लगाकर पैचबनाया जाता है। इसे यूनिफॉर्म की बांईभुजा पर शोल्डर बैज के ठीक नीचेलगाते हैं।

यदि एम्बुलैंस मैन बैज प्राप्त किया हो तो शोल्डर बैज के ठीक नीचे एम्बुलैंस मैनबैज व उसके ठीक नीचे इसे लगाते हैं।

8. सदस्यता बैज ( मैम्बरशिप बैज)-

 यह बैज हरीपृष्ठभूमि पर पीले रंग के त्रिदल (फ्लेअर-डे-लिस) से बना होताहै। इसे कमीज की बांई जेब की खड़ी पट्टी पर, जेब के ढक्कन परलगे बटन तथा जेब के नीचे वाली सिलाई के बीचोंबीच लगायाजाता है। (यह बैज दीक्षा के बाद लगाया जाता है।

9. मौजे या जुराबें (स्टॉकिंग)-

 मौजे या जुराबें काले रंगकी होंगी। जुराबें (स्टॉकिंग) घुटनों के नीचे मुड़ी हुई होंगी। इन्हें हरे रंग केगाटेर टैब्स जो कि 1.5 से.मी. बाहर दिखते होंगे से बांधा जायेगा। केवलजुराबें (स्टॉकिंग) को नेकर के साथ पहना जाएगा।

10. विश्व स्काउट बैज- 

इस बैज में बैंगनी पृष्ठ भूमि पर सफेदरंग का विश्व स्काउट बैज बना होता है। इसे सदस्यता बैंज की ही तरहकमीज की दांई जेब की खड़ी पट्टी पर मध्य में लगाया जाता है।

11. जूते- 

काले रंग के चमड़े या कैनवास के फीतेदार प्लेन होंगे

12. ओवर कोट, ब्लैजर या जैकेट:

नेवी ब्लू ओवर कोट या ब्लैजर या विन्ड चीटर केवल सर्दी केमौसम में पहन सकते हैं।13. मैटल बैज:

 भारत स्काउट्स और गाइड्स का मैटल बैजसाधारण पोषाक (मुफ्ती) पर लगाया जा सकता है।

14. लेनयार्ड ( सीटी व डोरी)- 

सलेटी रंग की डोरी ( ग्रेलेनयार्ड) को गर्दन के चारों ओर पहना जाता है जिस पर लगी सीटी कमीजकी बांई जेब में रखी जाती है।

15. रस्सी – 

स्टैन्डर्ड नाप की 3 मीटर लम्बी रस्सी ( जो गांठेंसीखने व पायनियरिंग में काम आती है) को बैल्ट में लटकाते हैं। इसेनॉटिंग रोप कहते हैं।

16. हैवर सैक या रक सैक: 

इसे बाहरी एक्टिविटी में साथ लेजा सकते हैं।

17. नेम स्ट्रिप-

 राष्ट्रीय मुख्यालय द्वारा प्रदत्त THE BHARATSCOUTS & GUIDES’ के नाम की 11x 2 से.मी. की पट्टी जिसके दांईओर 3×2 से.मी. का तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज बना हो, को शर्ट की दांई जेबके ठीक ऊपर सिलाई के पास लगाया जाएगा।
Working Casual Wear: कार्य करते समय या फील्डएक्टिविटी में निम्न ऐच्छिक पोषाक पहन सकते हैं । गहरी नीली जीन्स /पैन्टनेकर, प्लेन कॉलरवाली स्काइ ब्लू टी-शर्ट जिसकी जेब पर स्काउटएम्बलम कढ़ाई से बना हो और गहरी नीली ‘पी कैप’ जिस पर मध्य मेंBS&G एम्बलम हो को आरामदायक जूतों के साथ पहन सकते हैं।

Smart Scouting Hub: Scout Uniform with Models

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.