स्वचालित गणक मशीन (ATM) के बारे में जानकारी


स्वचालित गणक मशीन (ATM) के बारे में जानकारी

स्वचालित गणक मशीन जिसे अंग्रेजी में ओटोमेटिक टेलर मशीन तथा लघु रूप में ए.टी.एम. को आटोमेटिक बैंकिग मशीन, कैश पाइंट, होल इन द बॉल, बैनकोमंट जैसे नामों से यूरोप, अमेरिका, रूस में जाना जाता है । यह मशीन एक ऐसा दूरसंचार नियंत्रित व कम्प्यूटरीकृत उपकरण है जो ग्राहकों को वित्तीय हस्तांतरण से जुड़ी सेवाएँ ATM उपलब्ध कराता है। इस हस्तांतरण प्रक्रिया में ग्राहक को कैशियर क्लर्क या बैक टैलर की मदद की आवश्यकता नहीं होती। खुदरा यानि रिटेल बैंकिंग के क्षेत्र में ए. टी. एम. बनाने का विचार समानांतर तौर पर जापान, स्वीडन, अमेरिका और इग्लैण्ड में जन्मा और विकसित हुआ। वर्तमान ए. टी. एम. मशीन इंटरनेट बैंक नेटवर्क से जुड़ा होता है। यह नेटवर्क पी यू एल एस ई, पी एल यू एस आदि नामों से जाने जाते है।

इस आधुनिक युग में ए. टी. एम. का प्रयोग लोगों की दिनचर्या का अहम अंग बन गया है अत एवं ए. टी. एम. प्रयोग करते समय कुछ सावधानियाँ आवश्यक है।

स्वचालित गणक मशीन का संचालन:-

ए. टी. एम. के संचालन हेतु संबंधित बैंक आपको एक एटीएम कार्ड देता है। एटीएम कार्ड के साथ बैंक ग्राहक को पिन कोड (गुप्त अंक) देता है। जिसकी मदद से पैसा निकाला जाता है। ए. टी. एम. मशीन दो प्रकार की होती है। पहला जिसमें ए.टी. एम. कार्ड मशीन के अन्दर चला जाता है तथा कार्ड उपयोग के बाद बाहर आता है। दूसरा मशीन जिसमें कार्ड को केवल अन्दर डालकर बाहर निकाला जाता है।

संचालन:-
1. सबसे पहले ए.टी. एम. कार्ड को मशीन में डालते है तथा कुछ सेकण्ड के बाद वापस बाहर खीच लेते है। (किसी किसी ए. टी. एम. में स्वतः अन्दर चला जाता है। प्रत्येक ए. टी. एम. में कार्ड डालने का सुनिश्चित स्थान होता है ।।
2. आवश्यकतानुसार किसी एक का चयन करें- 1.Service (सवा), 2. Banking (बैंकिंग, पैसे निकालने हेतु बैंकिंग का चयन करें।)
3. मशीन के स्क्रीन पर भाषा चयन आता है। अंग्रेजी (English) और हिन्दी दोनों में किसी एक का चयन करें।
4. उसके बाद स्क्रीन पर पिन कोड (गुप्त अंक) डालने का निर्देश आता है। गुप्त अक (पिन कोड) डालने के बाद हस्तांतरण का निर्देश आता है।
5. आवश्यकतानुसार किसी एक का चयन करें- A. Balance (शेष राशि), B. Transfer (हस्तातरण), C. Cash Withdraw (रोकड़ निकासी), D. Mini Statement (संक्षिप्त विवरण),E. Post Cash Withdraw (त्वरित निकासी)।
6. नगद हस्तांतरण का चयन करें।
7. इसके बाद राशि अंकित करें जितना पैसे निकालने है। जैसे 1000/-,
2000/-, 5000/- इत्यादि।
8. इसके बाद स्क्रीन पर सही और गलत अंकित होगा सही का चयन करें।
9. इसके बाद स्क्रीन पर निकाली गई राशि की रसीद चाहिए तो हां चुने, नहीं तो नहीं।
10. पैसे निकलना शुरू होगा मशीन से एक आवाज़ सुनाई देगी, ‘पैसा लेना
11. अन्य हस्तातंरण “स्क्रीन” पर आयेगा तो ‘नहीं’ का चयन करना है तथा अन्त में रसीद लेकर कैन्सिल’ बटन दबाना है।
जिस एटीएम में कार्ड अन्दर जाता है। अन्य हस्तांतरण के समय “नहीं” चयन करने के बाद कार्ड वापस बाहर आ जाता है तथा अन्त में कैंसिल बटन दबा कर संचालन कार्य समाप्त करते है।
किसी ए. टी. एम. में संचालन का तरीका भिन्न-भिन्न है। सभी का तरीका एक जैसा नहीं होता है। थोड़ा अन्तर आ जाता है। किसी भी एटीएम में किसी भी बैंक के ए. टी. एम. कार्ड से पैसे निकाले जा सकते है।

सुरक्षा एवं सावधानियाँ

ए. टी. एम. में जाने से पूर्वः-
1. पिन कोड को सुरक्षित रखें। पिन कोड को हाथ, कवर या किसी अन्य चीज पर न लिखें तथा अपरिचित लोगों के साथ साझा न करें।
2. रात के समय ए. टी. एम. इस्तेमाल करते समय अपने साथ अपने विश्वासी लोग को ले जायें।

ए. टी. एम. का चयन:-

1. हमेशा ध्यान रखें कि ए. टी. एम. खुले स्थान (पर्याप्त रोशनी) में स्थित हो।
2.अगर कोई चोर-उचक्का ए.टी.एम. के आसपास घूमता नजर आये तो दूसरे ए. टी. एम. का चयन करें।
3. अगर ए. टी. एम. देखने में (संदेहास्पद) हो या मशीन से कोई ध्वनि सुनाई दे या पैड पर कोई गड़बड़ी हो तो भी दूसरे ए. टी. एम. का चयन करें तथा संबंधित बैंक या गार्ड को सूचित करें।

ए. टी. एम. के अन्दर

1. सर्व प्रथम आप क्या कर रहे है। इसका ध्यान दें। अन्दर में मोबाइल फोन का इस्तेमाल न करें इससे आपका ध्यान भंग होगा।
2. ए. टी. एम. से पैसे निकालने हेतु किसी अजनबी की सहायता न लें।
अगर आप समस्या में हो।
3. अगर ए. टी. एम. आपका कार्ड वापस कर दें, कुछ अलर्ट या नोट आ
जाय तो जल्द से जल्द बैंक को सूचित करें।
4. पिन कोड इस्तेमाल करते समय ध्यान रखें कि आपका पिन कोर्ड कोई देख न रहा हो। की-पैड को ढककर रखें।
5.अगर आपका हस्तांतरण पूरा हो गया हो तो रसीद, कोड और पैसे प्राप्त करने के बाद पैसे को सुरक्षित स्थान में गिनें।
6.अगर कोई व्यक्ति आपके पैसे मांगे या छीने तो उसके साथ झगड़ा नहीं करें, तुरन्त पुलिस को सूचित करें।


ए. टी. एम. कार्ड सुरक्षा

1. ए. टी. एम. कार्ड आपके बैंक खाता को संचालित करने की सुविधा
उपलब्ध कराता है। इसलिए सुरक्षित तरीके से रखें तथा इस्तेमाल करें।
2. कार्ड में अपना हस्ताक्षर करें।
3. अपना पिन कोड चयन करते समय जन्मतिथि, मोबाइल नम्बर टेलीफोन नम्बर, मकान नम्बर या सोसाइटी नम्बर इत्यादि का चयन न करें।
4. कभी किसी को अपना पिन कोड न बतायें, चाहे वह बैंक का कर्मचारी ही क्यों न हो।
5. अगर आप अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे है तो सेवा में रुकावट से बचने के लिए “रिप्रेजन्टेटिव फ्लैग” की जानकारी बैंक से ले लें।
6. अगरकार्ड चोरी हो जाय या खो जाये तो बकका अथवा बैंक के ग्राहक सेवा केन्द्र” को अविलम्ब सूचित करें।

समस्याएं:-

ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंको से रुपये निकासी सरल बनाने हेतु ए. टी. एम. मशीनों को लागू किया गया है। लेकिन इसके प्रचालन तंत्र में कई समस्याएं आती है। जैसे
1. मशीन का हेंग हो जाना।
2. बिना नोट निकले ही निकाले गए रुपयों की खाली रसीद बाहर दिखना तथा मोबाइल में हस्तांतरण का संदेश आना।
3. मशीन से कभी-कभी नकली नोट का निकलना।
4. “ग्राहक सेवा केन्द्र” की लाइन मुश्किल से मिलना।
5. ए. टी. एम. के अन्दर लगे अलार्म, स्विच का सही से काम न करना।
6. गलत भुगतान की प्रविष्टियों को ठीक करने की व्यवस्था भी कारगर नहीं है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply