स्काउट में रस्सी का महत्व

स्काउट में रस्सी का महत्व


रस्सी स्काउट/गाइड का एक अच्छा मित्र है। अतः उसकी सम्पूर्ण जानकारी होनी उनके लिये अत्यावश्यक है। रस्सी-सूत, जूट, नारियल, नाॅयलाॅन, तार, टेरिलीन, सन आदि की बनती है। किन्तु सन की रस्सी मजबूत ब कोमल होती है।
रस्सी को फीट या कदम में नापा जाता है रस्सी परिधि से उसकी मोटाई आकि जाती है अर्था्त 3‘‘ मोटी रस्सी वह कहलाती है। जिसकी परिधि 3‘‘ और व्यास 1‘‘ हो। 1‘‘ से कम की परिधि की रस्सी को लड़ कहा जाता है। 3‘‘ की रस्सी की मजबूती होगी 18 सीडब्लूटीएस।

साधारणतया रस्सी तीन प्रकार की होती है

  1. दुलड़ी रस्सी
  2. तिलड़ी रस्सी
  3. चैलड़ी रस्सी
    प्रत्येक स्काउट/गाइड अपने पास तीन मीटर की रस्सी रखता है जिसे जीवन रक्षक डोरी कहा जाता है। इससे वह विविध कार्य लेते है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply