स्वयं की देखभाल कैसे करें

स्वयं की देखभाल कैसे करें


(a) घर के प्रति तुम्हारा क्या दायित्व है। इसे ठीक सेबताने में सक्षम हों।

(b) अपना बिस्तर ठीक कर सकें।

(c) व्यक्तिगत स्वच्छता के स्वास्थ्य नियम जानते हों।

स्वच्छता-


व्यक्तिगत स्वच्छता का जीवन में अत्यंत महत्व है।आप जानते हैं कि हमारे शरीर में अधिकतर बीमारियां स्वच्छता के अभाव, अशुद्ध जल व मानसिक कारणों से होती हैं। मूल बीमारियां बहुत ही कम होती है। हमें व्यक्तिगत स्वच्छता जैसे नाखून काटना, शरीर को साफ रखना, अच्छी तरह हाथ धोने के बाद खाना खाना,शौच के बाद साबुन से हाथ धोना, नाक, कान में उंगली आदि न देना आदि बातों का ध्यान रखना चाहिए।पानी को उबालकर या फिल्टर करके अथवा आर.ओ.एक्वागार्ड आदि से शुद्ध करके पीना चाहिए।

स्वास्थ्य के लिए ध्यान देने योग्य बातें:-


1. रात्रि में जल्दी सोयें और प्रातः काल जल्दी उठें।
2. प्रतिदिन प्रातः बी.पी. के छ: व्यायाम करें।
3. खाना खाने से पहले व शौच के बाद हाथों कोसाबुन से धोयें।
4. पेय जल का 72 घण्टे से अधिक संग्रह न करें।
5. नशीले पदार्थों जैसे शराब, बीड़ी, सिगरेट, पान, सुपारी,गुटका, तम्बाकु, ड्रग आदि का सेवन न करें।
6. नाखून व शरीर को साफ सुथरा रखें।
7. अपनी सामर्थ्य के अनुसार परिश्रम अवश्य करें। प्रतिदिनइतना परिश्रम या व्यायाम करें कि पसीना आ जाये।
8. अधिक टी.वी. न देखें। यदि देखें तो पर्याप्त दूरी सेरोशनी में देखें।
9. बाजार के फास्ट/जंक फूड (कबाड़ भोजन) का प्रयोगन करें।
10. कुछ समय प्रकृति के बीच अवश्य रहें।
11. घर के आस-पास व कूलर आदि में पानी जमा नहोने दें। कूलर का पानी बदलते रहें।
12. पानी खूब पीयें। सलाद व हरी सब्जी अधिक खायें।
13. दातुन, मंजन व ब्रश द्वारा नियमित दांत साफ करें।
14. अधिक मीठा न खायें। खाने के बाद कुल्ला अवश्य करें।
15. सोने से पूर्व, स्नान से पूर्व व भोजन करने के तुरंतबाद पेशाब अवश्य करें।
16. खड़े होकर पानी न पीयें अर्थात पानी बैठ कर पीयें और घूट-घूट करके पीयें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply