कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान अधिगम परिणाम (Class 8 Social Science Learning Outcome )

0

कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान अधिगम परिणाम (Class 8 Social Science Learning Outcome ) यह बताता है कि शिक्षार्थी को कक्षा 8 में सामाजिक विज्ञान के पाठ्यक्रम में कम से कम क्या जानने चाहिए?

कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान अधिगम परिणाम (Class 8 Social Science Learning Outcome )

1. कच्चे माल, आकार और स्वामित्व के आधार पर विभिन्न प्रकार के उद्योगों को वर्गीकृत करता है।

2. अपने क्षेत्र/ राज्य की प्रमुख फसलों, खेती के प्रकार और कृषि प्रथाओं का वर्णन कर पाता है।

3. जनसंख्या के असमान वितरण के कारणों को दुनिया के नक्शे के आधार पर विवेचन करता है।

4. जंगल की आग, भूस्खलन औद्योगिक आपदाओं और उनके जोखिम में कमी लाने के उपायों का वर्णन करता है।

5. दुनिया के नक्शे में महत्वपूर्ण खनिजों के वितरण का पता लगाता है जैसे कोयला, पेट्रोलियम आदि।

6. पृथ्वी पर प्राकृतिक और मानव निर्मित संसाधनों का असमान वितरण का विश्लेषण करता है।

7. सभी क्षेत्रों में विकास को बनाए रखने के लिए प्राकृतिक संसाधनों जैसे पानी, मिट्टी, जंगल आदि के न्यायपूर्ण उपयोग की विवेचना करता है।

8. उन कारकों का विश्लेषण करता है जिसके कारण कुछ देश खास फसलों के उत्पादन के लिए जाने जाते हैं, जैसे-गेहूँ, चावल, कपास, जूट आदि और इन देशों को दुनिया के नक्शे पर दर्शाता है।

9. दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों की खेती और उसके विकास के बीच अंतर संबंध को समझता है।

10. विभिन्न देशों/भारत/राज्यों की आबादी को स्तंभ आरेख द्वारा दर्शाता है।

11. आधुनिक काल को ‘मध्ययुग और प्राचीन काल के – स्रोतों और भारतीय उप-महाद्वीप के विभिन्न क्षेत्रों में हुए व्यापक विकास के आधार पर अलग कर पाता है।

12. कैसे अंग्रेजी ईस्ट इंडिया कंपनी सबसे प्रभावशाली शक्ति बन गई स्पष्ट कर पाता है।

13. औपनिवेशिक कृषि नीतियों के प्रभाव देश के विभिन्न क्षेत्रों में किस प्रकार अलग-अलग था यह स्पष्ट कर पाता है।

14. 19वीं शताब्दी में विभिन्न आदिवासी समाजों के रूप और पर्यावरण के साथ उनके संबंध का वर्णन करता है।

15. आदिवासी समुदायों के लिए औपनिवेशिक प्रशासन द्वारा बनायी गई नीतियों को समझता है।

16. 1857 के विद्रोह की उत्पत्ति, प्रकृति एवं प्रसार तथा इसके परिणाम की व्याख्या करता है।

17. पूर्व-मौजूदा शहरी केंद्रों और हस्तशिल्प उद्योगों की गिरावट और औपनिवेशिक काल के दौरान भारत में नए शहरी केंद्रों और उद्योगों के विकास का विश्लेषण करता है।

18. भारत में नई शिक्षा प्रणाली की व्याख्या करता है।

19. इन मुद्दों पर जाति, महिला, विधवा पुनर्विवाह, बालविवाह, सामाजिक सुधार और औपनिवेशिक प्रशासन के कानूनों और नीतियों से संबंधित मुद्दों का विश्लेषण करता है।

20. कला के क्षेत्र में आधुनिक काल के दौरान होने वाले प्रमुख घटनाओं को दर्शाता है।

21. 1870 के दशक से आजादी तक में भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन की रूपरेखा बताता है।

22. राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में महत्त्वपूर्ण घटनाओं का विश्लेषण करता है।

23. भारत के संविधान के संदर्भ में अपने क्षेत्र के सामाजिक और राजनैतिक मुद्दों की व्याख्या करता है।

24. उपयुक्त उदाहरणों के साथ मौलिक अधिकार और मौलिक कर्तव्यों की विवेचना करता है।

25. किसी भी स्थिति में मौलिक अधिकार के महत्व और उनके उल्लंघन को समझता है। उदाहरण-बाल अधिकार।

26. राज्य सरकार और केन्द्र सरकार के बीच अंतर प्रकट करता है।

27. लोकसभा के चुनाव की प्रक्रिया का वर्णन करता है।

28. मानचित्र पर राज्य के निर्वाचन क्षेत्र को भारत के नक्शे में पहचानता है और स्थानीय लोकसभा सदस्य के नाम बता पाता है।

29. कानून बनाने की प्रक्रिया को समझता है ।(घरेलू हिंसा अधिनियम – आर.टी.आई. अधिनियम, आर.टी.ई. अधिनियम आदि)

30. कुछ विशिष्ट मामलों का हवाला देकर भारत में न्यायिक प्रणाली के कामकाज को अभिव्यक्त करता है।

31.एक प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर)कैसे दर्ज किया जाता है, समझता और बता पाता है।

32. अपने क्षेत्र के वंचित वर्गों के हाशिए पर होने के कारणों और परिणामों की व्याख्या करता है।

33. पानी, स्वच्छता, सड़क, बिजली आदि जैसे सार्वजनिक सुविधाएँ उपलब्ध कराने में सरकार की भूमिका को पहचानता है और उनकी उपलब्धता की व्याख्या करता है।

34 आर्थिक गतिविधियों को विनियमित करने में सरकार की भूमिका का वर्णन करता है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply