Browsing Category

हिन्दी व्याकरण

CGBSE HINDI GRAMMAR STUDY MATERIAL:
In this Category,where you are given HINDI GRAMMAR a pictorial study of content, comprehension questions, YouTube videos, essential foreknowledge and inherent skills run by Chhattisgarh Textbook Corporation.
SCERT स्टडी मटेरियल  हिन्दी व्याकरण:
इस श्रेणी में आपको हिन्दी व्याकरण के छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा संचालित विषयवस्तु का सचित्र अध्ययन , बोध प्रश्न , यूट्यूब विडिओ,आवश्यक पूर्वज्ञान और निहित कौशल के बारे में बताया गया है.

हिन्दी व्याकरण: लोकोक्तियाँ

लोकोक्तियाँ (proverbs) की परिभाषा किसी विशेष स्थान पर प्रसिद्ध हो जाने वाले कथन को 'लोकोक्ति' कहते हैं।दूसरे शब्दों में- जब कोई पूरा कथन किसी प्रसंग विशेष में उद्धत किया जाता है तो लोकोक्ति कहलाता है। इसी को कहावत कहते है। …
Read More...

विराम चिन्ह : हिन्दी व्याकरण

विराम चिह(Punctuation Mark) की परिभाषा भित्र-भित्र प्रकार के भावों और विचारों को स्पष्ट करने के लिए जिन चिह्नों का प्रयोग वाक्य के बीच या अंत में किया जाता है, उन्हें 'विराम चिह्न' कहते है।दूसरे शब्दों में- विराम का अर्थ है -…
Read More...

हिन्दी व्याकरण: अनुच्छेद लेखन

अनुच्छेद-लेखन (Paragraph Writing) की परिभाषा किसी एक भाव या विचार को व्यक्त करने के लिए लिखे गये सम्बद्ध और लघु वाक्य-समूह को अनुच्छेद-लेखन कहते हैं।दूसरे शब्दों में- किसी घटना, दृश्य अथवा विषय को संक्षिप्त किन्तु सारगर्भित ढंग से…
Read More...

हिन्दी व्याकरण: पत्र लेखन

पत्र-लेखन (Letter-writing) की परिभाषा लिखित रूप में अपने मन के भावों एवं विचारों को प्रकट करने का माध्यम 'पत्र' हैं। 'पत्र' का शाब्दिक अर्थ हैं, 'ऐसा कागज जिस पर कोई बात लिखी अथवा छपी हो'। पत्र के द्वारा व्यक्ति अपनी बातों को दूसरों तक…
Read More...

हिन्दी व्याकरण: एकार्थक शब्द

यहाँ कुछ प्रमुख एकार्थक शब्द दिया जा रहा है। ( अ ) अहंकार- मन का गर्व। झूठे अपनेपन का बोध।अनुग्रह- कृपा। किसी छोटे से प्रसत्र होकर उसका कुछ उपकार या भलाई करना।अनुकम्पा- बहुत कृपा। किसी के दुःख से दुखी होकर उसपर की गयी…
Read More...

हिन्दी व्याकरण: अनेकार्थी शब्द

Anekarthi shabd-(अनेकार्थी शब्द)की परिभाषा ऐसे शब्द, जिनके अनेक अर्थ होते है, अनेकार्थी शब्द कहलाते है।दूसरे शब्दों में- जिन शब्दों के एक से अधिक अर्थ होते हैं, उन्हें 'अनेकार्थी शब्द' कहते है।अनेकार्थी का अर्थ है – एक से अधिक अर्थ…
Read More...

निबन्ध लेखन की परिभाषा, अंग, प्रकार व विशेषताएं

निबन्ध लेखन की परिभाषा (Essay-writing) निबन्ध- अपने मानसिक भावों या विचारों को संक्षिप्त रूप से तथा नियन्त्रित ढंग से लिखना 'निबन्ध' कहलाता है।दूसरे शब्दों में- किसी विषय पर अपने भावों को पूर्ण रूप से क्रमानुसार लिपिबद्ध करना ही…
Read More...

विलोम शब्द या विपरीत शब्द

विलोम शब्द या विपरीतार्थक शब्द (Antonyms) एक़-दूसरे के विपरीत या उल्टा अर्थ देने वाले शब्द विलोम कहलाते है।सरल शब्दों में- जो शब्द किसी दूसरे शब्द का उल्टा अर्थ बताते हैं, उन्हें विलोम शब्द या विपरीतार्थक शब्द कहते है। जैसे-…
Read More...

अलंकार की परिभाषा, महत्व और भेद

अलंकार की परिभाषा- जो किसी वस्तु को अलंकृत करे वह अलंकार कहलाता है।दूसरे अर्थ में- काव्य अथवा भाषा को शोभा बनाने वाले मनोरंजक ढंग को अलंकार कहते है।संकीर्ण अर्थ में- काव्यशरीर, अर्थात् भाषा को शब्दार्थ से सुसज्जित तथा सुन्दर…
Read More...

वचन की परिभाषा, प्रकार व नियम

वचन की परिभाषा शब्द के जिस रूप से एक या एक से अधिक का बोध होता है, उसे हिन्दी व्याकरण में 'वचन' कहते है।दूसरे शब्दों में- संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण और क्रिया के जिस रूप से संख्या का बोध हो, उसे 'वचन' कहते है।जैसे- फ्रिज में सब्जियाँ…
Read More...