बी .पी. के 6 व्यायाम

0

बी .पी. के 6 व्यायाम

बी.पी.के छ: व्यायाम के सम्बन्ध में स्काउटिंग फॉर बॉयज में बी.पी. ने स्वयं कहा है-

  1. ये व्यायाम शरीर के सभी अंगों के लिए हैं।
  2. ये बहुत धीमी गति के व्यायाम हैं इनका श्वसन क्रिया से तालमेल हो।
  3. यह सतत प्रक्रिया है जिसमें सांस लेना व छोड़ना एक छोटे विश्राम के साथ होता है।
  4. अपना स्वयं का समय लेते हुए व्यायाम करें।
बी .पी. के 6 व्यायाम

सिर व गर्दन के लिए व्यायाम :

अपने दोनों हाथों की हथेलियों से सिर, गले व गर्दन को रगड़ा, अंगुलियों से बालों में कंघी करो

सीने के लिए व्यायाम :

सामने की ओर झुककर सांस बाहर निकाल दो। बाजू नीचे की ओर तने हुए व हथेली बाहर की ओर हों, फिर हाथ को धीरे-धीरे ऊपर उठाते हुए, नाक से सांस लेते हुए, पीछे की ओर झुको। धीरे-धीरे हाथों को बगल में पीछे की ओर लाओ,
सांस निकालते हुए बैंक्स (Thanks) कहो। फिर आगे की ओर झुकते हुए शेष सांस बाहर निकाल दो। इस क्रिया को 12 बार दोहराओ।

आमाशय के लिए व्यायाम :

सीधे खड़े होकर हाथ सामने की ओर फैलाएं, हथेली नीचे की ओर हो। पैरों को स्थिर रखें। दोनों हाथों को, सांस लेते हुए जितना हो सके पहले दाहिनी ओर ले जाएं, रुककर सांस छोड़ दें। फिर इसी प्रकार बांयीं ओर ले जाएं। इस क्रिया को दोनों ओर 6-6 बार दोहराएं।

धड़ के लिए व्यायाम :

सावधान की स्थिति में खड़े होकर दोनों हाथों की अंगुलियों को एक-दूसरे में फंसाओ, हाथों को सिर से ऊपर उठाओ व गहरी सांस लो। पीछे की ओर झुकते हुए, कमर के ऊपर का भाग घुमाते हुए, कमर एक बार सामने की ओर फिर पीछे की ओर झुकाते हुए सांस छोड़ते हुए, एक गोला बनाओ। इस क्रिया को 6-6 बार पहले दांयीं व फिर बांयीं ओर दोहराओ।

शरीर के नीचे वाले भाग के लिए व्यायामः


पैरों को थोड़ा खोलकर सीधे खड़े हो जाओ। दोनों हाथ सिर के पीछे लगाओ, ऊपर को देखकर सांस लेते हुए पीछे की ओर झुको, फिर धीरे-धीरे सामने की ओर झुककर पंजों को छूओ। (इस व्यायाम को करते हुए घुटने व हाथ सीधे तने रहनेचाहिए इस व्यायाम को 12 बार दोहराओ।

6.टांगों और पंजों के लिए व्यायाम :

जूते निकालकर, सावधान होकर, दोनों हाथों को कुल्हों पर रखें। हाथ की अंगुलियां आगे की ओर तथा अंगूठा पीछे की ओर रखें और पंजों के बल खड़े हो जाएं, घुटनों को बाहर निकालें धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए बैठें। फिर सांस लेते हुए ऊपर उठे।
एड़ियां जमीन पर नहीं लगनी चाहिए। इस क्रिया को 12 बार दोहराएं। यह पिण्डली व पंजों के लिए लाभदायक है।

Leave A Reply