स्काउट गाइड से कैसे जुड़ें ? || How Join Scouts and Guides

0

स्काउट गाइड से कैसे जुड़ें? ||How Join Scouts and Guides

  • वह भारत का की नागरिक हो, 10 वर्ष की आयु पूर्ण कर ली हो किंतु 17 वर्ष अभी पूरे न किये हों, 
  • स्काउट/गाइड प्रतिज्ञा और नियम के अनुपालन हेतु अपना अंशदान देकर स्काउट दल गाइड कम्पनी का सदस्य बन सकता/सकती है। 
  • यदि वहस्कूल स्तर का / की है तो 18 वर्ष तक उसी दल कम्पनी में रह सकता / सकती है।
Bharat Scout and Guide Flag (Design and Importance)
स्काउट गाइड से कैसे जुड़ें?

विद्यालय में स्काउट एवं गाइड से जुड़ने के दो तरीके हैं-

  • अगर आप किसी विद्यालय में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, तो आपको अपने विद्यालय के ऑफिस में सीधे जाकर उनसे कहना होगा कि आप स्काउट्स एंड गाइड्स ज्वाइन करने के इच्छुक हैं तथा इसमें आपको शामिल किया जाये।
  • या फिर स्काउट्स के  डिवीज़न में जाकर हमें इस बारे में सूचित करना होगा। जिसके बाद वो आपको इसमें शामिल करने पर विचार- विमर्श तथा वार्ता करेंगे।
  • और अगर आप किसी विद्यालय में नही हैं, तो इसे ज्वाइन करने के लिए स्काउट्स के रेलवे डिवीज़न में जाकर उन्हें इस बारे में सूचित करना होगा। जिसके बाद वो आपको इसमें शामिल करने पर विचार- विमर्श तथा वार्ता करेंगे।
  • इसके अलावा एक सबसे अहम बात जो आपको पता होनी चाहिए कि आप स्काउट्स एंड गाइड्स क्यों ज्वाइन करने के इच्छुक हैं? तथा हर वर्ष के अंत तक वे ऐसे कौन- कौन से लक्ष्य होंगे, जिन्हें आप हर हाल में पूरा करना चाहते हैं, एकल रूप से, तथा एक समूह के तौर पर?? 

स्काउट ट्रूप-गाइड कंपनी दो प्रकार की होती है-
(क) नियंत्रित ग्रुप-नियंत्रित ग्रप वे ग्रुप होते हैं।जो किसी संस्था /स्कूल/ कॉलेज प्रबंधन के नियंत्रण में रहकर संचालित किए जाते हैं।
(ख) स्वतन्त्र ग्रुप-वे ग्रुप होते हैं जिनका गठन स्वतंत्र ग्रुप कमेटी बनाकर किया जाता है। इसमें मोहल्ले गांव शहर के कुछ बालक किसी प्रशिक्षित स्काउट मास्टर के नेतृत्व में स्वतंत्र स्काउट दल (ट्रप) तथा बालिकाएं किसी प्रशिक्षित गाइड कैप्टन के नेतृत्व में स्वतंत्र गाइड दल (कंपनी) गठित कर अपनी गतिविधियों का संचालन करते हैं।

यदि आपके विद्यालय में स्काउटिंग/गाइडिंग नहीं है तो सचिव स्थानीय एसोसिएशन या जिला संगठन (सी.ओ.) से ज्ञात कर कि क्या आपके शहर में स्वतन्त्र स्काउट ट्रूप या गाइड कंपनी संचालित की जा रही है ? यदि हां में उत्तर मिलता है तो उसका पता लेकर स्काउटर/गाइडर संपर्क कर ,आप भी स्काउट/गाइड बन सकते हैं।

इसके अलावा हमें कुछ बातें पता होनी चाहिए।

जैसे-

  • हम  स्काउट्स एंड गाइड्स क्यों ज्वाइन करने के इच्छुक हैं?
  • हर वर्ष के अंत तक वे ऐसे कौन- कौन से लक्ष्य होंगे, जिन्हें हम  हर हाल में पूरा करना चाहते हैं?

स्काउट्स एंड गाइड्स से जुड़ने से लाभ

  • इसमें राष्ट्रपति तथा राज्य पुरस्कार सर्टिफिकेट से सीधे तौर पर रोजगार  की प्राप्ति नही हो सकती।
  • परंतु बायोडाटा के साथ संलग्न होने से इसकी सम्भावना बढती  हैं।
  • इंटरव्यू के वक़्त स्काउट गाइड प्रशिक्षण में मिले अनुभव से लाभ होता है ।
  • हमें  अपने प्रतिद्वंदियों से हमेशा दो कदम आगे रखते हैं।
  • इसके अलावा भारतीय रेलवे में जॉब के लिए स्काउट्स/गाइड्स आरक्षण का भी प्रावधान है।

अंततः

  • हमें  इस पर मिले उपलब्धियों पर गर्व होना चाहिए।
  • ये अनुभव अप्रत्यक्ष रूप में  बहुत अहम भूमिका निभाते हैं।
  • इससे आगामी जीवन पर काफी अच्छा सकरात्मक प्रभाव पड़ता है.
  • राष्ट्रपति तथा राज्यपाल द्वारा हस्ताक्षरित सर्टिफिकेट बहुत अधिक महत्ता रखते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply