टीएलएम (TLM) एवं नवाचारी शैक्षिक कार्ययोजना हेतु बैठक संपन्न

चट्टीगिरोला (सरायपाली) : विकासखंड सरायपाली के बीईओ श्री आई.पी.कश्यप जी, बीआरसी श्री भोजराज पटेल जी के दिशा-निर्देशों के अनुसार संकुल केंद्र चट्टीगिरोला के प्राथमिक, अपर प्राथमिक एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल के शिक्षकों की कार्ययोजना आधारित बैठक रखी गई थी। यह बैठक शासकीय प्राथमिक शाला माधोपाली में आहूत की गई थी। मां सरस्वती के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर एवं दीप प्रज्वलित किया गया। प्रार्थना एवं मंत्रोच्चार से वातावरण में स्वरलहरी गूंज उठी। संकुल के वरिष्ठ शिक्षक नेहरू लाल नायक, व्याख्याता शैलेंद्र कुमार नायक, समन्वयक के.पी.चौधरी, प्रधान पाठक जानकी भोई, एन.के.भोई, विपिन बिहारी प्रधान, शिक्षक गण मालती नायक, सविता साहू, मुकेश साहू, अनुपमा सतपथी, उत्तमा साहू, ज्योति प्रधान, ए.पी.जगत, सुनील पाणीग्राही, शनिराम सिदार, गजानन प्रधान, ओमप्रकाश ठाकुर, कृष्ण कुमार भोई, विद्याचरण साहू इस अवसर पर सहभागी हुए। पीएलसी के सदस्य श्रीमती सविता साहू ने विज्ञान विषय के अध्यापन तैयारी एवं टीएलएम निर्माण पर चर्चा रखी। नवाचारी कला के धनी नेहरू लाल नायक ने रूचिकर गतिविधियों के साथ विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने हेतु तरीके सुझाए। पीएलसी सदस्य एवं अंग्रेजी विषय के व्याख्याता शैलेंद्र कुमार नायक ने भाषाई कौशल के विकास के लिए प्रारंभिक और मूलभूत सिद्धांत को उल्लेखित किया। संकुल के ऊर्जावान शिक्षकों को समन्वयक के.पी.चौधरी ने नवोदय की विशेष कक्षाओं के लिए सर्वप्रथम बधाई दिया। पश्चात् उच्च कार्यालय से जारी पत्र के 25 बिंदु के निर्देशों के अनुपालन में बिंदुवार जानकारियां मांगी गई और आवश्यक सुझाव दिए गए। जिसमें स्कूल की पोताई, किचन-गार्डन, शौचालय निर्माण एवं स्वच्छता, वॉल-मैग्जिन, अधिगम सूचकांक कक्षावार एवं विषयवार, शैक्षिक गुणवत्ता, पौष्टिक मध्यान्ह भोजन, टीएलएम निर्माण तथा विभिन्न मदों के अनुरूप प्राप्त राशि का खर्च एवं सदुपयोग प्रमुख रूप से शामिल किए गए। आवश्यक प्रपत्रों के संकलन उपरांत शिक्षकों से उनके विद्यालयीन उपलब्धियों की जानकारी ली गई। बैठक में आमंत्रित अधिकारी बीआरसी श्री भोजराज पटेल ने अपने उद्बोधन में संकुल के समन्वयक सहित समस्त शिक्षकों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि आज के परिवेश में शिक्षक की गरिमा को बना कर रखना अति आवश्यक है। अपने समर्पित और अनुशासित व्यक्तित्व से ही समाज के बुद्धिजीवी वर्ग का सहयोग मिलेगा। नन्हे-मुन्ने बच्चों का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए सदा नवीन ऊर्जा के साथ क्षेत्र में अग्रसर रहें। संस्था के अनुभवी एवं वरिष्ठ का सम्मान तथा कनिष्ठ के साथ स्नेह पूर्वक माहौल बनाते हुए दायित्वों का निर्वहन करने से सफलता मिलती है। माधोपाली की शिक्षिका मालती नायक ने आभार एवं धन्यवाद ज्ञापित किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.