छत्तीसगढ़ में शिक्षा गुणवत्ता हेतु नवाचारी कार्य के लिये PLC {Proffesional learning COMMUNITY} गठन

https://forms.gle/P5iVHHq4rzjHxMSy9 छत्तीसगढ़ में PLC के द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्य को देखते हुए सभी सक्रिय PLC का पंजीयन करते हुए उनके साथ आगे मिलकर काम किया जाना प्रस्तावित किया जा रहा है । जिसमें शिक्षक समूह अपने पीएलसी को सक्रिय कर उनके माध्यम से लिए का रहे फोकस कार्यों एवम् उद्देश्य के आधार पर पंजीयन कर सकते हैं । विकासखंड स्तर पर सक्रिय शिक्षक एवं सक्रिय पीएलसी में अधिक से अधिक योग्य शिक्षकों को समूह में सामिल कर फॉर्म भरना है | और इस समूह के कार्य का एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने पर इस पीएलसी समूह को पन्द्रह हजार नवाचारी कार्य करने एवं शिक्षकों को दो हजार का प्रावधान प्रोत्साहन स्वरूप किया जाना प्रस्तावित है | विषय: पीएलसी के माध्यम से प्रत्येक विकासखंड में गुणवता सुधार हेतु नवाचारी कार्य |
सन्दर्भ: इस वर्ष समग्र शिक्षा के अंतर्गत स्वीकृत कार्यक्रम | इस वर्ष समग्र शिक्षा के अंतर्गत प्रत्येक विकासखंड से एक सक्रिय पीएलसी का चयन कर उनके माध्यम से बच्चों के गुणवत्ता सुधार हेतु कुछ नवाचारी कार्य प्रस्तावित कर उनका क्रियान्वयन करना है | इस अनुभव के आधार पर आगामी वर्ष में सफल योजनाओं को राज्य के अधिकतम शालाओं में लागू किया जा सकेगा | इस कार्यक्रम के अंतर्गत पीएलसी द्वारा लिए जाने वाले कुछ सुझावात्मक कार्य इस प्रकार हैं-
  1. कक्षा शिक्षण प्रक्रियाओं में सुधार कर किसी विशेष प्रक्रिया का पालन कर सुधार
  2. कक्षा शिक्षण के दौरान उपयुक्त एवं प्रभावी सहायक सामग्रियों के माध्यम से शिक्षण
  3. बच्चों की उपलब्धि में सुधार हेतु शिक्षकों का सतत क्षमता विकास
  4. सामुदायिक सहयोग के माध्यम से बच्चों की उपलब्धि में सुधार
  5. पठन कौशल विकास हेतु शाला पुस्तकालय का उपयोग
  6. गणितीय कौशलों के विकास हेतु विभिन्न नवाचारी प्रयास
  7. विज्ञान शिक्षा को रोचक बनाने विभिन्न नवाचारी कार्यक्रम
  8. टेक्नोलोजी का उपयोग कर शिक्षण को रुचिकर बनाना
  9. ग्रीष्मावकाश एवं शाला समय के अतिरिक्त कक्षा संचालन कर सुधार
  10. युवा क्लब के माध्यम से बच्चों में पढाई के प्रति रूचि विकसित करना
  11. शाला त्यागी/ बाह्य/ अनियमित बच्चों की नियमित उपस्थिति एवं सुधार
  12. अभ्यास पुस्तकों के माध्यम से बच्चों के लर्निंग आउटकम में सुधार
  13. विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों/ एस.सी./एस.टी./बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन
  14. बच्चों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता हेतु कोचिंग कक्षाओं का संचालन
  15. स्थानीय आवश्यकताओं के आधार पर अन्य प्रभावी नवाचारी योजनाएं
    इस कार्य को संपन्न करने हेतु निम्नलिखित चरणों का पालन जिलों को करना होगा-
  16. जिले स्तर पर इस कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए तीनों कार्यालयों में से जिला शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में एक कुशल टीम का गठन कर इस टीम के माध्यम से इस कार्यक्रम का संचालन एवं रिपोर्टिंग (प्रथम सप्ताह -जनवरी, 2020 )
  17. प्रत्येक विकासखंड में सबसे सक्रिय एवं बड़े एक पीएलसी का चयन करना (कम से कम 25 सदस्य इस पीएलसी में होना अनिवार्य) और उनके समूह को टेलीग्राम में आपस में जोड़ते हुए अपनी जानकारी गूगल फॉर्म में भरना (द्वितीय सप्ताह -जनवरी, 2020 )
  18. विकासखंड स्तर पर इन पीएलसी के साथ मिलकर जिले के प्रत्येक विकासखंड में अलग अलग मुद्दों पर कार्य किए जाने हेतु डाईट के विकासखंड प्रभारी के मार्गदर्शन में कार्ययोजना तैयार करना (तीसरा सप्ताह -जनवरी, 2020 )
  19. तैयार की जा रही कार्ययोजना में कार्यक्रम अवधि में डाईट के माध्यम से बेसलाइन एवं एंडलाइन की जानकारी लेने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं (तीसरा सप्ताह -जनवरी, 2020 )
  20. जिले की टीम के द्वारा कार्यक्रम को अंतिम रूप देने पर पीएलसी को कार्यक्रम क्रियान्वयन हेतु रूपए पन्द्रह हजार जारी करने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं (26 जनवरी, 2020 )
  21. विकासखंड की चयनित शालाओं में इस कार्यक्रम का क्रियान्वयन एवं जिले की टीम के माध्यम से सतत मानिटरिंग (26 जनवरी, 2020 से 15 अगस्त, 2020)
  22. जिले स्तर पर प्रत्येक विकासखंड में संचालित कार्यक्रम के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर जिले में प्रस्तुतीकरण हेतु डाईट के मार्गदर्शन में कार्यक्रम की प्रभाविता प्रदर्शित करने पीपीटी तैयार कर विस्तार से प्रदर्शन (20 अगस्त, 2020)
  23. राज्य स्तर पर सफल कार्यक्रमों की रिपोर्टिंग साझा करना एवं डाईट के माध्यम से प्रभावी कार्यक्रमों का प्रस्तुतीकरण कर बच्चों की उपलब्धि में सुधार लाने हेतु विभिन्न नवाचारी योजनाओं को आगामी स्तर में लागू करने हेतु प्रस्तावित करना (30 अगस्त, 2020)
उपरोक्तानुसार समयसीमा का पालन करवाते हुए जिलों को इस अनोखे कार्यक्रम का पूरा लाभ उठाते हुए जमीनी स्तर पर ठोस कार्यक्रम प्रस्तावित करें ताकि आगामी सत्र में आपके जिले के किसी विकासखंड में संचालित सफल योजना का लाभ पूरे प्रदेश में मिल सके |

Leave A Reply

Your email address will not be published.